Friday, 6 December, 2019

कानून के हाथ

सुना होगा
कानून की आँखें नहीं होतीं
ऒर सुनिये 
उसके पाँव भी नहीं होते 
और न ही हाथ
अगर चलना है कानून तो
किसी न किसी को तो उसे चलाना होगा 
किसी न किसी को तो हाथ देने होंगे अपने 
ले लो हाथ में जिनका काम है ये 
वरना कोई न कोई तो लेगा ही
हाथ में कानून