Friday, 11 June, 2010

बेहतर

जंग लगी पुरानी घिसी हुई
लोहे की जंजीरों मे जकड़े हुये
सड़ते गलीज इन्सानों
इधर देखो
ये नई चमकदार
सोने की हथकड़ियाँ और बेड़ियाँ

No comments:

Post a Comment