Saturday 18 May 2013

मीलों हमें जाना है

अभी तो शुरू किया है सालों हमें खाना है 
मीलों हम आ गए मीलों हमें जाना है 
एयर इन्डिया को धूल चटा दी 
रेल की हमने पेल मचा दी 
चोर डकैत सब सकते में हैं 
लूट की ऐसी झड़ी लगा दी 
हमें जरूरत क्या है दुश्मन मुल्कों की 
ये देश हमारा है और हमीं को मिटाना है 
मीलों हम आ गए मीलों हमें जाना है 
हमने टूजी थ्रीजी खाया 
कोयला खाया लोहा खाया 
पीहर से हेलीकाप्टर आया 
उसमे भी खाया खूब खिलाया 
सुरसा जैसी भूख हमारी हमें तो खाना है 
मीलों हम आ गए मीलों हमें जाना है 

1 comment: