Friday 1 February 2013

टिक टिक टिक

चल मेरे कुत्ते टिक टिक टिक 
चल मेरे गदहे टिक टिक टिक 
चल मेरे तोते टिक टिक टिक 
चल मेरी बिल्ली टिक टिक टिक 
चल मेरी भैंस टिक टिक टिक 
चल मेरे हाथी टिक टिक टिक 
चल मेरे ऊँट टिक टिक टिक 
क्यों 
वे सरकारें चला रहे हैं 
जैसे मन करे  
हम दो चार जानवर भी नहीं चला सकते क्या 

No comments:

Post a Comment