Wednesday 28 July 2010

त्रिमूर्ति

तीन मैं हैं
एक तुम्हारे पास
एक मेरे पास
तीसरा अब है नहीं

No comments:

Post a Comment