Saturday 2 January 2010

हम बंधे या भैंस

हम समझते थे कि बँधी है भैंस
टूटी रस्सी और भागी वो
फ़िर जब हम भागे उसके पीछे
पता चल गया कौन बँधा था

No comments:

Post a Comment